Archive for the ‘Uncategorized’ Category

नेट जाल अब जंजाल बनता जा रहा है. हर वेबसाईट चाहती है कि हम उसे अपनी ई-मेल पता थमा दें. ई-मेल की सेवा देने वाली वेबसाइट पर हम लागिन कर सेवा प्रयोग करें तो ठीक था पर अब हर एक एरा गैरा नत्थू खैरा चाहता है कि हम उस पर लागिन करके ही उसकी सेवा […]


लो समझ लो बात

01सितम्बर15

आज सुबह 8.30 को इस ब्लोग की एक पोस्ट में शब्द का 31 agst, 2007 shukrawaar उपयोग किया गया. और गूगल सर्च में यह केवल पांच घंटे बाद 1.30 पर शामिल हो गया है। नीचे फोटो देखिये ये पोस्ट उस एग्रीगेटर में नहीं दिखी जिसके गुड़गान बखाने जा रहे थे। कल ये शब्द बारमेड पोलीस […]